मेरे प्यारे देशवासियो! यदि आप मुझे अपना साथ दें, तो मैं आपको बौद्धिक दासता से मुक्त कराकर विश्वगुरु एवं अखण्ड भारत के निर्माण का मूलमंत्र देने का प्रयास करूँगा।