Search

है कोई सच्चा वीर भारतीय?


⚫ जब देश के नागरिकों का राष्ट्रिय स्वाभिमान मर जाएं, ⚫ जब उन्हें देश के स्थान पर अपनी कथित जाति, मजहब, पार्टी एवं अपना स्वार्थ महत्वपूर्ण लगे, ⚫ जब वे अपने नेताओं के पूर्व के कुकर्मो को भूल जाएं, ⚫ जब वे अपने पूर्वजों के बलिदान को बेचने लगें, ⚫ जब सत्ता के लिए देश के नेता अपनी मां का चीरहरण करके शत्रुओं की मां की आरती करने लगें, ⚫ जब उनके विवेक व बुद्धि क्षीण वा भ्रष्ट हो जाएं और वे नेताओं की योग्यता व कार्यो की तुलना करने में अक्षम हो जाएं,


तब वे- ⚫ विकास के स्थान पर विनाश ⚫ भगवान् श्रीराम के स्थान पर रावण वा बाबर ⚫ भगवती सीता के स्थान शूपर्णखा ⚫ भगवान् श्रीकृष्ण के स्थान पर कंस अथवा विदेशी शकुनि ⚫ पृथ्वीराज चैहान के स्थान पर जयचन्द वा मोहम्मद गौरी ⚫ महाराणा प्रताप के स्थान पर अकबर ⚫ छत्रपति शिवाजी व गुरुगोविन्द सिंह के स्थान पर औरंगजेब ⚫ 'वन्दे मातरम्’ नारे के स्थान पर ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ नारे ⚫ क्रान्तिकारियों व सेना में शहीदों के स्थान पर आतंकवादियों ⚫ समान नागरिक कानून के स्थान पर भेदभावपूर्ण पृथक्-2 कानून

को वरीयता देने लगते हैं तथा ऐसे ही नेता को चुनते हैं। उन्हें देशभक्ति, वैदिक सनातन धर्म, अपने सांस्कृतिक गौरव एवं पूर्वजों की विरासत घृणास्पद प्रतीत होती है। आज भारत का राजनैतिक वातावरण ऐसा ही हो गया है। इससे प्रतीत होता है कि आज कई जयचन्द विदेशी गौरी को, मीरजाफर विदेशी क्लाइव को बुलाकर इस भारत को पराधीन बनाने का षड्यन्त्र रच रहे हैं। अब ये एक-दो नहीं हैं, बल्कि इनकी पूरी टोली है


तभी तो- ⚫ देश को दशकों तक लूटने वाले ⚫ देश की शिक्षा को भारतविरोधी बनाने वाले ⚫ कोर्ट में श्रीराम के जन्म को काल्पनिक बताने वाले ⚫ भारत के संसाधनों पर पहला अधिकार मुस्लिमों का बताने वाले ⚫ आर्यो(हिन्दुओं) को विदेशी बताने वाले ⚫ याकूब मेनन की फांसी पर आंसू बहाने वाले ⚫ बंगाल में हिन्दुओं का संहार कराने वाले ⚫ देश को जाति-मजहब की आग में झोंकने वाले ⚫ वेद और ऋषि-मुनीयों का उपहास उडा़ने वाले

सभी पारस्परिक मतभेदों का त्याग कर एकजुट हो रहे हैं। आज देश में कितने सच्चे वीर भारतीय हैं, जो ऐसी कठिन घडी़ में अपनी मां भारती के छलनी हृदय की दवा करने हेतु स्वयं दर्द सहने को उद्यत हैं।

0 views
© 2018, Vaidic Physics, All Rights Reserved.